Ajeeb Dastan Hai Ye Kahan Shuru Kahan Khatam - Lata Mangeshkar


Hindi Lyrics

अजीब दास्तां है ये
कहाँ शुरू कहाँ खतम
ये मंज़िलें है कौन सी
न वो समझ सके न हम
अजीब दास्तां...

(ये रोशनी के साथ क्यों
धुआँ उठा चिराग से) -२
ये ख़्वाब देखती हूँ मैं
के जग पड़ी हूँ ख़्वाब से
अजीब दास्तां...

(किसीका प्यार लेके तुम
नया जहाँ बसाओगे) -२
ये शाम जब भी आएगी
तुम हमको याद आओगे
अजीब दास्तां...

(मुबारकें तुम्हें के तुम
किसीके नूर हो गए) -२
किसीके इतने पास हो
के सबसे दूर हो गए
अजीब दास्तां...

Song Credits:

SongAjeeb Dastan Hai Yeh Kahan Shuru Kahan Khatam 
MovieDil Apana Aur Preet Parayee
SingerLata
GenreSad
LanguageHindi
StarringMeena Kumar, Nadira, Helen, Raj Kumar
LyricistShailendra
Music DirectorShankar-Jaikishan
LabelSaregama Music



अगर आपको ये गाना पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें।  
धन्यवाद !

हमारी वेबसाइट पर आपका स्वागत है। हमारी लिरिक्स की वेबसाइट खास आपके लिए ही बनाई गयी है, यहाँ आपको latest, evergreen, filmy और non-filmy हिट गानों के lyrics, videos, informations और गानो से सम्बंधित कुछ FAQs भी Hindi और English Fonts में मिलेंगे।