Mahakal Hindi Status

कालों के काल महाकाल के बारे में कौन है जानता यह शिव के 12 रूद्र अवतारों में से एक अवतार है, महाकालेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश के उज्जैन नगर में स्थित है ऐसी मान्यता है कि महाकाल की पूजा करने वाला अथवा महाकाल का ध्यान करने वाला किसी भी प्रकार के काल के भय से मुक्त हो जाता है, वही शिव जो कैलाश पर रहते हैं वही शिव जिनकी अर्धांगिनी माता पार्वती हैं तथा गणेश और कार्तिकेय जी जिनके पुत्र हैं ऐसे शिव जी को कौन नहीं जानता, वो महाकाल अर्थात शिव जिनके गले में नाग, माथे पर चंद्रमा और जटाओं में गंगा का निवास है ऐसे शिव के भक्तों के लिए हम महाकाल स्टेटस पेश करते हैं यह स्टेटस आप अपने सोशल साइट पर शेयर कर सकते हैं और अपना इंप्रेशन बना सकते हैं। इस पोस्ट में आपको Mahakaal Status in Hindi, Mahakal Hindi Status For FB and Whatsapp, Mahakal Ke Pujari Status, Bhakt Mahakal Ke, Mahakal Ujjain Wale Status, Kalo Ke Kaal Mhakal Hindi Status जैसे संबंधित स्टेटस मिलेंगे। 


Mahakal Status in Hindi


Bhaukaali Mahakaal Status In Hindi

मैं कल नहीं मैं काल हूँ,,, वैकुण्ठ या पाताल नहीं,
मैं मोक्ष का भी सार हूँ,,, मैं पवित्र रोष हूँ,,, मैं ही तो अघोर हूँ,,, मैं शिव हूँ।


यह कलयुग हैं,,, यहाँ ताज अच्छाई को नही, बुराई को मिलता हैं,
लेकिन हम तो बाबा महाकाल के दीवाने हैं,,, ताज के नही रुद्राक्ष के दीवाने हैं।


हाथों की लकीरें अधूरी हो तो किस्मत अच्छी नहीं होती,,,
हम कहते हैं की सर पर हाथ महादेव का हो, तो लकीरों की ज़रूरत नहीं होती।


हम तो चेले भी उनके हैं,,, जिनका कोई गुरु नहीं था। जय महाकाल।


जिससे देव भी डरते हैं,,,, ऐसा हैं मेरा महादेव।


जहाँ पर आकर लोगों की नवाबी खत्म होती हैं,,,
वही से महाकाल के भक्तों की बादशाही शुरू होती हैं।


कोई कितनी कोशिश कर ले कुछ नही बिगाड़ सकता माई का लाल,,,
कियौकि जिसके हम बालक हैं, नाम हैं महाकाल।


महाँकाल की अदालत की वकालात प्यारी हैं,,,
खामोश रह, कर्म कर तेरा मुकदमा जारी हैं।


हम खुद गुलाम हैं उस बाबा महाकाल के,,, जो सभी के सरताज हैं।


तांडव उनका जैसे स्वर्ग का नजारा हो,,,
रज भी सोना बन जाए, जब महाकाल तेरा सहारा हो।


जहाँ पर आकर लोगों की #Nawabi ख़त्म हो जाती हैं,,,
बस वहीं से महाकाल के दीवानों की, #Badshaahi शुरू होती हैं।


शिव अनादि हैं, अनन्त हैं, विश्वविधाता हैं,,,
जो जन्म मृत्यू एवं काल के बंधनो से अलिप्त स्वयं महाकाल हैं।


माथे का तिलक कभी हटेगा नही,,,
और जब तक जिन्दा हूँ, तब तक महाकाल का नाम मुँह से मिटेगा नही।


काल भी तुम महाकाल भी तुम,,,
लोक भी तुम त्रिलोक भी तुम, सत्यम भी तुम और सत्य भी तुम।


हमें ढूंढना इतना मुश्किल नहीं है मेरे दोस्त,,,
बस जिस महेफिल में महाकाल की आवाज गूंज रही हो वहा चले आना।



जब इस दुनिया से मेरी विदाई तो इतनी मोहलत मेरी सांसो को देना,
एक बार और महाकाल कह लेने देना।


यह कह कर मेरे दुश्मन मुझे छोड़ गए की,,,
ये तो महाकाल का भक्त हैं, पंगा लिया तो महादेव नंगा कर देंगे।।


किसी ने कहा लोहा हैं हम, किसी ने कहा फौलाद हैं हम,,,
वहां भाग दौड मच गई, जब हमने कहा महाकाल के भक्त हैं हम।



जो करते हैं दुनिया पे भरोसा वो चिंता में होते हैं,,,
जो करते हैं, महाकाल पर भरोसा वो चैन की नींद सोते हैं।


ख़ाक मज़ा हैं जीने में,,,
जब तक महादेव ना बसें अपने सीने में।


मने तो अपने आप को महाकाल के चरणों में रख दिया,,,
दुनियाँ ही हमारी महाकाल हैं, अब इतना समझ लिया।


माँग कर देखो महाकाल से जिसने भी मांगा हैं,,,
उसने पाया हैं जिसने जितना दर्द सहा हैं, उतना चैन भी पाया हैं।


आ बैठ मेरे महादेव आज बटवारा कर ही ले,,,
पूरी दुनिया तेरी और सिर्फ तू मेरा ।।


ना मैं शायर हूँ, ना ही मेरा शायरी से कोई वास्ता हैं,,,
बस शौक बन गया हैं महादेव तेरी यादो को बयान करना।


महादेव आपने तो लाखो की तकदीर सवारी हैं,,,
मुझे दिलासा तो दो, कि अब मेरी बारी हैं।


फिदा हो जाऊँ तेरी किस-किस अदा पर महाकाल,,,
अदायें लाख तेरी, बेताब दिल एक हैं मेरा।


मझधार में नैया हैं, बड़ा दूर किनारा हैं,,,
अब तू ही बता मेरे महाकाल यहां कौन हमारा हैं।


किसी की गलतियों को बेनक़ाब ना कर,,,
महाकाल बैठा है, तू हिसाब ना कर।


पागल सा हुँ मगर दिल का सच्चा हुँ,,,
थोड़ा सा Awara हुँ, पर महाकाल तेरा ही दिवाना हुँ।


बहुत दिल भर चुका हैं खूब रोना चाहता हूँ,,,
मैं महाकाल तेरी गोद में सिर रख कर सोना चाहता हूँ।


हमने तो अपने आप को महाकाल के चरणों में रख दिया,,,
दुनियाँ ही हमारी महाकाल हैं, अब इतना समझ लिया।


आँधियो में भी जहाँ जलता हुआ चिराग़ मिल जाएगा,,,
उस चिराग़ से पूछना महाकाल का पता मिल जाएगा ।।


सोचने से कहाँ मिलते हैं तमन्नाओं के शहर,,,
चलने की जिद भी जरुरी हैं महाकाल पाने के लिए।


महाकाल तेरी मेरी प्रीत पुरानी, शक की ना गुंजाइश हैं,,,
रखना हमेशा चरणों में ही छोटी सी ये फरमाइश हैं।


महाकाल वो हैं जो नहीं हैं, और जो नहीं हैं वो महाकाल हैं।


महादेव के चरणों में रहमतों का झरना बहता हैं,,,,
पर बहता उसी पे हैं जिसका मन महादेव महादेव रमता हैं।


कौन कहता हैं भारत में ‪FOGG‬ चल रहा हैं ???
यहाँ तो सिर्फ ‪‎महाकाल‬ के भक्तो का खौफ चल रहा हैं।


आ रही हैं पालकी, राजाधीराज भगवान महाकाल की
..जय श्री महाकाल..


नाचेगी धरती, झुमेगा गगन,,,
जब होगा महाकाल राजा का नगर भ्रमण।


लिख दे किस्मत में मेरी महाकाल का प्यार,,,
कुछ ऐसा करिश्मा कर दे मुझको मिल जाए महाकाल का दीदार।


कोई दिवाना बन जाए तो कोई फ़कीर बन जाए,,,
महाकाल को जो देखे, वो खुद तस्वीर बन जाए।


जिन्दगी एक धुआँ हैं, जाने कहा थम जायेगा,,,
कर ले मेरे महाकाल की भक्ति, जीवन सफल हो जायेगा।


कहते हैं लोग अक्सर मुझे कि बावला हूँ मैं,,,
उनको क्या पता कि अपने बाबा महाँकाल का लाडला हूँ मैं।


भूतकाल को अभी भूल मत वर्तमान अभी बाकी हैं,,,
ये तो महाकाल की एक लहर हैं, अभी तो तूफ़ान आना बाकी हैं।


हम तो दिवाने हैं उस कपाली महाकाल के,,,
जो अघोरियों के दिलो पर भी राज करते हैं।


मिलती हैं तेरी भक्ति महादेव बड़े जतन के बाद,,,
पा ही लूंगा महादेव आपको समशान में जलने के बाद।


महाकाल कि महेफील में बैठा कीजिये साहब,,,
बादशाहत का अंदाज़ खुद ब खुद आ जायेगा।


मौत का डर उनको लगता हैं, जिनके कर्मों मे दाग हैं,,,
हम तो महाकाल के भक्त हैं, हमारे तो खून में ही आग हैं।


हे मेरे महाकाल आप भी अजीब से बैंक के मालिक हैं,,,
मेरे जैसे खोटे सिक्के को भी बड़ी हिफाजत से रखते हैं।


दुश्मन बनकर मुझसे जीतने चला था नादान,,,
मेरे MAHAKAL से मोहब्बत कर लेता तो मैं खुद हार जाता।
जय_महाकाल


खुशबु आ रही हैं कहीँ से गांजे और भांग की,,,
शायद खिड़की खुली रह गयी हैं ‘मेरे महांकाल’ के दरबार की।


ना शिकवा तकदीर से, ना शिकायत अच्छी,,,
महादेव जिस हाल मे रखे वही जिंदगी अच्छी।


अनजान हूँ अभी धीरे धीरे सीख़ जाऊंगा,,,
पर किसी के सामने झुक कर पहचान नहीं बनाऊंगा।


मेरे महाकाल तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ,,,
तुम साथ हो महाकाल, तो मैं अनंत हूँ।


कोई मुझसे मेरा सब कुछ छीन सकता हैं,,,
पर महाकाल की दीवानगी, मुझसे कोई नही छीन सकता।


तू राजा की राजदुलॉरी, मैं सिर्फ़ लंगोटे आला सु,,,
भंग रगड़ क पिया करूँ मैं ख़ाली सोटे आला सु।


वो लम्हा मेरी ज़िन्दगी का बड़ा अनमोल होता हैं,,,
जब मेरे महाकाल की बातें यादें और माहौल होता हैं।


हम महादेव के दिवाने हैं, तान के सीना चलते हैं,,,
ये महादेव का जंगल हैं, जहाँ शेर करते दंगल हैं।


जब भी मैं अपने बुरे हालातो से घबराता हूँ,,,
तब मेरे महाकाल की आवाज आती हैं, रूक मैं अभी आता हूँ।


महाकाल नाम की चाबी ऐसी जो हर ताले को खोले,,,
काम बनेंगें उसके सारे जो “जय महाकाल” बोले।


चल रहा हूँ धूप में तो महाकाल तेरी छाया हैं,
शरण हैं तेरी सच्ची बाकी तो सब मोह माया हैं


महाकाल वो हस्ती हैं, जिससे मिलने को दुनियाँ तरसती हैं,
और हम उसी महेफिल में रोज बैठा करते हैं...


जब मुझे यकीन हैं के महादेव मेरे साथ हैं,
तो इस से कोई फर्क नहीं पड़ता के कौन मेरे खिलाफ हैं...


ना गिनकर देता हैं, ना तोलकर देता हैं,
जब भी मेरा महाकाल देता हैं, दिल खोल कर देता हैं...


हम महाकाल नाम की शमा के छोटे से परवाने हैं,
कहने वाले कुछ भी कहे हम तो महाकाल के दिवाने हैं...


कर्ता करे न कर सकै, शिव करै सो होय,
तीन लोक नौ खंड में, महाकाल से बड़ा न कोजय श्री महाकाल...


मैं चूम लू मौत को अगर मेरी एक प्रार्थना वो स्वीकारती हो,
बस मेरी चिता की राख से बाबा महाकाल भस्मा आरती हो...


अकाल मौत वो मरे, जो काम करे चंडाल का,
काल भी उसका क्या बिगाड़े, जो भक्त हो महाकाल का...


क्या करूँगा मैं अमीर बन कर,
मेरा ‪महाकाल तो ‪फकीर‬ का दीवाना हैं...


महाँकाल का नारा लगा के, दुनिया में हम छा गये,
दुश्मन भी छुपकर बोले वो देखो महाँकाल का भक्त आ गया...


करूँ क्यों फ़िक्र की मौत के बाद जगह कहाँ मिलेगी,
जहाँ होगी मेरे महादेव की महफिल मेरी रूह वहाँ मिलेगी...


मैं सुल्तान नही हूँ, जो पिट पिट कर Winner बनु,
मैं महाकाल का भक्त हूँ, एक ही बार में स्वाहा करू....


जो आसमां ने पिया जाम महाकाल का ज़हरीला
उसी को पी के हुआ रंग-ए-आसमान नीला….
जय श्री महाकाल....


मैं झुक नही सकता, मैं शौर्य का अखँड भाग हूँ,
जला दे जो अधर्म की रुह को, मैं वही महादेव का दास हूँ...


सबसे बड़ा तेरा दरबार हैं, तू ही सब का पालनहार हैं
सजा दे या माफी महादेव, तू ही हमारी सरकार हैं....


राजनीति नही, दिलो पर राज करने की इच्छा हैं,
यही मेरे गुरू बाबा महाकाल की शिक्षा हैं....


जब सुकून नही मिलता दिखावे की बस्ती में,
तब खो जाता हूँ मेरे महाकाल की मस्ती में...


माया को चाहने वाला बिखर जाता हैं,
और महाकाल को चाहने वाला निखर जाता हैं....


दिखावे की मोहब्बत से दूर रहता हूँ,
इसलिये मैं महाकाल के नशे में चूर रहता हूँ....


ना महीनों की गिनती, ना सालों का हिसाब हैं,
मोहब्बत आज भी महाकाल से बेइंतहा बेहिसाब हैं।
जय श्री महाकाल....


अघोर हूँ मैं, अघोरी मेरा नाम,
महाकाल हैं आराध्य मेरे, और श्मशान मेरा धाम.....


दौलत छोड़ी, दुनिया छोड़ी, सारा खजाना छोड़ दिया,
महाकाल के प्यार में दिवानों ने, राज घराना छोड़ दिया....


ये कैसी घटा छाई हैं, हवा में नई सुर्खी आई हैं,
फैली हैं जो सुगंध हवा में, जरूर महादेव ने चिलम जलाई हैं....


चिता भस्म से तेरा नित नित हो श्रृंगार,
काल भी तेरे आगे हाथ जोड़ खड़ा लाचार....


चिंता नहीं हैं काल की,
बस कृपा बनी रहे मेरे महाकाल की....


वही सुखी, वही निराला, वही किस्मत वाला,
जिसका देवो के देव महादेव हो रखवाला 


कुत्तो की बढी तादाद से शेर मरा नही करते,
और महाकाल के दिवाने किसी के बाप से ड़रा नही करते...


हम ‪‎महादेव‬ के दीवाने हैं तान के ‪सीना‬ चलते हैं,
ये महादेव का जंगल हैं, यहाँ शेर ‪महाकाल‬ के पलते हैं...


तन की जाने, मन की जाने, जाने चित की चोरी,
उस महाकाल से क्या छिपावे जिसके हाथ हैं सब की डोरी...


भांग से सजी हैं सूरत तेरी, करू कैसे इसका गुणगान,
जब हो जायेगी आँखे मेरी भी लाल तभी दिखेगे महाकाल...


ना पूछो मुझसे मेरी पहचान, मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार, मैं उस महाकाल का पुजारी हूँ....


तिलक धारी सब पे भारी, जय श्री महाकाल पहचान हमारी....


नही पता कौन हूँ मैं और कहा मुझे जाना हैं,
महादेव ही मेरी मँजिल हैं और महाकाल का दर ही मेरा ठिकाना हैं....


जैसे हनुमानजी के सीने में तुमको सियापति श्री राम मिलेंगे
सीना चीर के देखो मेरा तुमको बाबा महाकाल मिलेंगे...


आँधी तूफान से वो डरते हैं, जिनके मन में प्राण बसते हैं,
वो मौत देखकर भी हँसते हैं, जिनके मन में महाकाल बसते हैं।


खौफ फैला देना नाम का,
कोई पुछे तो कह देना, भक्त लौट आया हैं महाकाल का....


इतना ना सजा करो मेरे महाकाल आपको नज़र लग जायेगी....
और उस मिर्ची की क्या औकात जो आपकी नज़र उतार पाएगी।


भागना मत मौत से एक एहसान चढ़ा देगी....
जीवन के बाद म्रत्यु तुझे महादेव से मिला देगी ।।


खुल चुका हैं नेत्र तीसरा, शिव शंभू त्रिकाल का....
इस कलयुग में वो ही बचेगा, जो भक्त हो महाकाल का।


हिन्दूगिरी के बादशाह हैं हम तलवार हमारी रानी हैं....
दादागिरी तो करते ही हैं, बाकी महाकाल की मेहरबानी हैं।


गरज उठे गगन सारा, समंदर छोड़े अपना किनारा....
हिल जाये जहान सारा, जब गूंजे महाकाल का नारा।


गांजे मे गंगा बसी, चीलम में चार धाम,
कंकर मे शंकर बसे, और जग में महाकाल।।....


वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं,
ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते है....


झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे,
वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे....


ना मैं उच नीच में रहूँ ना ही जात पात में रहूँ,
महाकाल आप मेरे दिल में रहे, और मैं औक़ात में रहूँ....


सारा ब्राम्हॉंन्ड झुकता हैं जिसके शरण में,
मेरा प्रणाम हैं उन महाकाल के चरण में....


किसी ने मुझसे कहा इतने ख़ूबसूरत नहीं हो तुम,
मैंने कहा महाकाल के भक्त खूंखार ही अच्छे लगते हैं।....


काल का भी उस पर क्या आघात हो,
जिस बंदे पर महाकाल का हाथ हो।...


जब जब लगने लगे डर, ले लो नाम दिल से महाकाल का
खुद काल भी ढोक लगाए ऐसा है असर प्रभु के नाम का...
हर हर शंभू महादेव...


जो समय की चाल हैं, अपने भक्तों की ढाल हैं,
पल में बदल दे सृष्टि को, वो महाकाल हैं।..


Aage Aur Bhi Mahakal Ke Status Hum Laate Rahenge, Tb Tk Ke Liye 
.....Jay Mahakal...