दोस्तों! लता मंगेशकर (Lata Mangeskar) जी का गाया हुआ गाना ऐ मेरे वतन के लोगों (Aye Mere Watan Ke Logon) एक हिंदी देशभक्ति गीत है जो कि कारगिल युद्ध में शहीद वीरों की याद में 26 जनवरी 1963 को दिल्ली के नेशनल स्टेडियम में सर्वपल्ली राधाकृष्णन और भूतपूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी की उपस्थिति में पहली बार लाइव, लता जी के मार्मिक और हृदय को छू देने वाली आवाज में गाया गया था। कहा जाता है कि नेहरू जी ने इस गाने को सुनने के बाद भीगी आंखों से  कहा था कि "जो इस गाने से प्रभावित नहीं होते वह हिंदुस्तानी कहलाने के काबिल नहीं है।" और यह बात सच भी है। 
ऐ मेरे वतन के लोगों गाने के Lyrics को लिखा है गीतकार Pardeep जी ने और इसके साथ ही C. Ramchandra ने इस गाने की म्यूजिक को कंपोज किया है।



 गाना (Song):                       ऐ मेरे वतन के लोगों
 गायक(Singer):  लता मंगेशकर
 गीतकर(Lyricist):  प्रदीप
 म्यूजिक(Music):  सी. रामचंद्र
 लेबल(Label):  -
 Released:  -


Jo Shaheed Hue Hain Unki Song Hindi Lyrics

ऐ मेरे वतन के लोगों
तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का
लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर
वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो x2
जो लौट के घर न आये x2

ऐ मेरे वतन के लोगों 
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
जब घायल हुआ हिमालय
खतरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लड़े वो
फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा 
सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुए हैं उनकी 
जरा याद करो कुर्बानी

जब देश में थी दीवाली
वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में
वो झेल रहे थे गोली
थे धन्य जवान वो अपने
थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुए हैं उनकी 
जरा याद करो कुर्बानी

कोई सिख कोई जाट मराठा
कोई गोरखा कोई मदरासी
सरहद पर मरनेवाला 
हर वीर था भारतवासी
जो खून गिरा पर्वत पर
वो खून था हिंदुस्तानी
जो शहीद हुए हैं उनकी 
जरा याद करो कुर्बानी

थी खून से लथ-पथ काया
फिर भी बन्दूक उठाके
दस-दस को एक ने मारा
फिर गिर गये होश गँवा के
जब अन्त-समय आया तो
कह गये के अब मरते हैं
खुश रहना देश के प्यारों
अब हम तो सफ़र करते हैं

क्या लोग थे वो दीवाने
क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुए हैं उनकी 
जरा याद करो कुर्बानी
तुम भूल न जाओ उनको
इस लिये कही ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी 
जरा याद करो कुर्बानी

[जय हिन्द... जय हिन्द की सेना] x2
जय हिन्द, जय हिन्द, जय हिन्द