दोस्तों ! छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी हम हिंदुस्तानी
Chhodo Kal Ki Baatein Kal Ki Baat Purani Nye Daur Me Likkenge Hum Milkar Nyi Kahani गाना 1960 में रिलीज़ हुई मूवी हम हिंदुस्तानी / Hum Hindustani (1960)] का टाइटल सांग है। इस गाने के म्यूजिक को डायरेक्ट किया है उषा खन्ना (Usha Khanna) जी ने, गाने के बोल (Lyrics) लिखे गए हैं प्रेम धवन (Pram Dhawan) जी के द्वारा तथा गाना मुकेश (Mukesh) जी के द्वारा गाया गया है यह एक हिंदी (Hindi) देशभक्ति गीत है इस गाने में एक युवा या यू कहे तो एक भारतीय, आजादी के बाद अपने देश के तरक्की में हर प्रकार से योगदान देने की बात करता है. यह मुकेश जी के द्वारा गाया गया एक बहुत ही बेहतरीन देश भक्ति गाना है आपको भी यह गाना एक बार सुनना चाहिए. 



 गाना (Song):                       छोड़ो कल की बातें
 मूवी (Movie):  हम हिंदुस्तानी (1960)
 गायक(Singer):  मुकेश
 गीतकर(Lyricist):  प्रेम धवन
 म्यूजिक(Music):  उषा खन्ना
 लेबल(Label):  -
 Released:  -


Chhodo Kal Ki Baatein Song Hindi Lyrics

छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी

आज पुरानी ज़ंजीरों को तोड़ चुके हैं
क्या देखें उस मंज़िल को जो छोड़ चुके हैं
चांद के दर पर जा पहुंचा है आज ज़माना
नए जगत से हम भी नाता जोड़ चुके हैं
नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी

[हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी]x2
छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी

हम को कितने ताजमहल हैं और बनाने
कितने हैं अजंता हम को और सजाने
अभी पलटना है रुख कितने दरियाओं का
कितने पवर्त राहों से हैं आज हटाने
नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी
 
[हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी]x2
छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी


आओ मेहनत को अपना ईमान बनाएं
अपने हाथों से अपना भगवान बनाएं
राम की इस धरती को गौतम कि भूमी को
सपनों से भी प्यारा हिंदुस्तान बनाएं
नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी

[हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी]x2
छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी


दाग गुलामी का धोया है जान लुटा के
दीप जलाए हैं ये कितने दीप बुझा के
ली है आज़ादी तो फिर इस आज़ादी को
रखना होगा हर दुश्मन से आज बचा के
नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी

[हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी]x2
छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी


हर ज़र्रा है मोती आँख उठाकर देखो
मिट्टी में सोना है हाथ बढ़ाकर देखो
सोने कि ये गंगा है चांदी की जमुना
चाहो तो पत्थर पे धान उगाकर देखो
नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी

[हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी]x2
छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी
हम हिंदुस्तानी,  हम हिंदुस्तानी


दोस्तों इस गाने के बोल अथवा लिरिक्स में यदि कोई कमी हो तो उसे आप कमेंट में बता सकते हैं धन्यवाद!