काशी हिले पटना हिले गाने को भोजपुरी के मशहूर गायक रितेश पांडेय (Ritesh Pandey) और अंतरा सिंह (Antra Singh) की जोड़ी ने मिलकर गाया है | काशी हिले पटना हिले गाने के बोल (Lyrics) को राजपति (Rajpati) और कुंदन प्रीत (Kundan Preet) ने लिखा है और इस गाने को आशीष वर्मा (Ashish Varma) जी के द्वारा कंपोज़ किया गया है। 
नीचे काशी हिले पटना हिले गाने की लिरिक्स हिंदी में दी गयी है। 

 

काशी हिले पटना हिले - Ritesh Pandey

आंख में जहिया काजर क इनी 

केशिया में जब गजरा लग इनी 

गलिया के तिल कइले जियल मुश्किल 

कंप्लेन मिलेला 

 

काशी हिले छपरा हिले पटना हिलेला 

हो तोहरी हां तोहरी 

हो तोहरी लचके जब कमरिया 

तऽ सारा जिला हिलेला 

 

किसी ने टिप-टाॅप बोला, किसी ने हिप-हाॅप बोला 

पड़ी नजर जो बाबू साहेब की उन्होने लॉलीपॉप बोला 

 

बाटे दिवाना बनवले सबके कनवा के बाली 

थाना थानेदार हिले देखी ओठ लाली 

 

तू जईबु जवने ओरिया अगिये लगईबु हो 

रही इहे रहन तऽ मर्डर करबइबु 

 

बोलेला बाउर बतिया जहिया तनिको पी लेला 

 

आरा मऊ बलिया हिले झरिया हिलेला 

हो तोहरी हो तोहरी 

हां तोहरी लचके जब कमरिया 

तऽ सारा जिला हिलेला 

हो तोहरी लचके जब कमरिया 

तऽ सारा जिला हिलेला 

 

जिला जवार में बानी हम सुनऽ एके पीस हो

पीछे हमरा पड़ल बाड़े कुंदन आशीष हो 

 

कि चारे दिन रही रंगीन रंग रूप भेष हो 

एतना करऽ ना गुमान कहऽ तारे रितेश हो 

होता इ फील आईल तोहरो बा दिल झूठे बात छिलेला 

बस्ती सासाराम हिले देवरिया हिलेला 

हो तोहरी हो तोहरी 

हां तोहरी लचके जब कमरिया 

तऽ सारा जिला हिलेला 

हो तोहरी लचके जब कमरिया 

तऽ सारा जिला हिलेला



Song Details:-
Lyrics by
Rajpati, Kundan Preet
Singer
Ritesh Pandey, Antra Singh Priyanka
Composer
Ashish Verma

रितेश पांडेय के भोजपुरी गाने :